गुजरात चुनाव 2022, के बीच चर्चा में आ गई राहुल गांधी और सद्दाम हुसैन की दाढ़ी, जान‍िए नेताओं की दाढ़ी से जुड़ी आठ बातें

अहमदाबाद में चुनाव प्रचार के दौरान हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने कहा, ”राहुल जी आपका चेहरा ऐसा होना चाहिए, जिसमें लोगों को महात्मा गांधी दिखाई दे, सरदार पटेल दिखाई दे, लेकिन ऐसा नहीं जिसमें सद्दाम हुसैन दिखाई दे।”

 

इराक के पूर्व राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन की दाढ़ी को लेकर तब भी चर्चा होती थी, जब वह जिंदा थे। अगस्त 2003 में जब वह अपनी ग्रे दाढ़ी के साथ पहली बार नजर आए थे, तब अमेरिका में कोलाहल मच गया था। वह अपनी लुक में बदलाव करते रहते थे।
सद्दाम हुसैन का सबसे चर्चित लुक वही है, जिसमें उनके चेहरे पर घनी मूछे और दाढ़ी के बाल सफाचट होते थे। सद्दाम जिन तस्वीरों में बेतरतीब बढ़ी लंबी दाढ़ी के साथ दिखते हैं, वह उनके कैद के दौरान खींची गई तस्वीरे हैं।


भारत में अब तक 14 पुरुष प्रधानमंत्री रहे। नरेंद्र मोदी वह चौथे प्रधानमंत्री हैं, जो दाढ़ी रखते हैं। उनसे पहले मनमोहन सिंह, आई. के. गुजराल और चंद्रशेखर दाढ़ी वाले प्रधानमंत्री हुए।
भारत में अब के 13 पुरुष राष्ट्रपती रहे हैं। उनमें से केवल डॉ जाकिर हुसैन और ज्ञानी जैल सिंह ही दाढ़ी रखते थे। जाकिर हुसैन मुस्लिम और जैल सिंह सिख समुदाय से ताल्लुक रखते थे।
पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के दाढ़ी से जुड़ा एक किस्सा बहुत मशहूर है। कॉलेज के दिनों में उन्हें अपने एक दोस्त की मदद के लिए जयपुर जाना पड़ा था। प्रवास लंबा होने और पसंद के नाई के न मिलने से उनकी दाढ़ी बढ़ गई थी।

 

जब वह विश्वविद्यालय लौटे तो उनके आरएसएस के दोस्तों ने मजाक में पूछा, ”अशोक मेहता (सोशलिस्ट लीडर) बन रहे हो क्या? इस पर चंद्रशेखर ने तपाक से कहा, ”गोलवलकर बनने का विचार है, धीरे-धीरे वही बन जाऊंगा।”

The post गुजरात चुनाव 2022 के बीच चर्चा में आ गई राहुल गांधी और सद्दाम हुसैन की दाढ़ी appeared first on News Nasha.