जौनपुर।  मतदाता सूची से नाम गायब करने वाले रामनगर ब्लाक के एडीओ पंचायत उमाकांत पांडेय और ग्राम पंचायत अधिकारी शिवशंकर मौर्या को निलंबित कर दिया गया। रामनगर ब्लाक के उत्तरपट्टी व तिलंगा में शिकायत के बाद जांच में  दोनों लोगो को  दोषी पाया गया। यह कार्रवाई मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ल ने की है।

 शिकायतकर्ता नरेंद्र कुमार शुक्ल ने गांव में फर्जी तरीके से मतदाताओं का नाम मतदाता सूची से गायब करने की शिकायत मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ल से की थी। इसके बाद मामले की जांच की गई। इसमें यह पता चला कि उत्तरपट्टी के द्वितीय चरण में जिन 137 व्यक्तियों के नामों का विलोपन किया गया है। उसमें अधिकतर लोग गांव में निवास करते हैं और बिना बीएलओ से फार्म की जांच कराकर किसी और से उसका फर्जी हस्ताक्षर बनाकर मतदाताओं का नाम वोटर लिस्ट से कटवा दिया गया। इसी प्रकार तिलंगा में 174 मतदाताओं का नाम बिना बीएलओ के हस्ताक्षर के विलोपित कराए गए हैं। ग्राम तिलंगा, बोधीपुर, करमहुआखास खेतासराय में भी नाम परिवर्धन व विलोपन की शिकायत प्राप्त हुई है। सीडीओ ने निर्देश दिया कि यह निलंबन के दौरान जलालपुर ब्लाक से संबद्ध रहेंगे। निलंबन के कारणों की जांच के लिए जिला विकास अधिकारी को जांच अधिकारी नामित किया गया है।