जौनपुर। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ (सेवारत) जनपद  की जनपदीय कार्यकारिणी द्वारा विभिन्न समस्याओं को लेकर समस्याओं को लेकर  लगातार दूसरे दिन जिला कार्यालय पर धरना दिया जा रहा है। धरने को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष प्रदेश अध्यक्ष रमेश सिंह ने कहा कि जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पूरी तरह भ्रष्टाचार में लिप्त है। 

जनपद के शिक्षकों की बीवी ने समस्याएं जैसे एनपीएस से आच्छादित शिक्षकों की राज्य आंसर सहित उनकी कटौती का उनके खातों में अंतरित होना तथा पासबुक बनाना विभिन्न शिक्षकों का चयन वेतनमान प्रोन्नत वेतनमान तदर्थ प्रधानाचार्य का प्रधानाचार्य का वेतनमान आज समस्याएं जस की तस बनी हुई है। इस संबंध में जिलाधिकारी सहित जिला विद्यालय निरीक्षक को कई बार ज्ञापन के माध्यम से मुलाकात कर समस्याओं से अवगत कराया जा चुका है लेकिन अभी तक कोई समुचित हल नहीं हो रहा है। 

आज इस धरने के माध्यम से माध्यमिक शिक्षक संघ सेवारत जिला विद्यालय निरीक्षक को को बता देना चाहता है कि हमारे शिक्षक जाए समस्याओं का समाधान यदि नहीं होता है तो मजबूरन कार्यालय में तालाबंदी के लिए बाध्य होगा इसका संपूर्ण उत्तरदायित्व जिला विद्यालय निरीक्षक का होगा। धरना स्थल पर जिला विद्यालय निरीक्षक महोदय उपस्थित हुए प्रदेश अध्यक्ष रमेश सिंह सहित पदाधिकारियों से सौहार्द पूर्वक वार्ता हुई जिसमें जिला विद्यालय निरीक्षक ने आश्वासन दिया कि आपकी सभी समस्याओं का पूर्णता निदान 10 दिन में करने के उपरांत संगठन को अवगत करा दिया जाएगा। 

जिला विद्यालय निरीक्षक के इस आश्वासन के साथ धरना स्थगित करने का निर्णय लिया गया। धरने की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष धीरज यादव तथा संचालन संचालन जिला मंत्री ठाकुर प्रसाद तिवारी ने किया। धरने पर मुख्य रुप से राजेश सिंह, बद्री प्रसाद सिंह, दिलीप कुमार सिंह, दयाशंकर यादव, बृजेश सिंह, सुनील सिंह, अवधेश सिंह, रमेश कुमार, सुशील पाल, धर्मेंद्र सिंह, योगेंद्र सिंह, प्रकाश सिंह, हिमांशु सिंह, ऋषि श्रीवास्तव, सुरेश यादव सहित सैकड़ों शिक्षक उपस्थित रहे।