खुटहन ब्लाक प्रमुख चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी ने सरयू देवी यादव को अपना अधिकृत प्रत्याशी घोषित कर दिया है। उनके पुत्र और पूर्व ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि rajiv Yadav क्षेत्र पंचायत सदस्यों से संपर्क साध रहे हैं।
खुटहन क्षेत्र पंचायत में समाजवादी विचारधारा के अधिकतर BDC सदस्य निर्वाचित हुए हैं परंतु विशेष परिस्थितियों में समाजवादी पार्टी के सदस्यों द्वारा भितरघात की भी संभावना जताई जा रही है ।जिला पंचायत सदस्यों के परिणामों का असर ब्लाक प्रमुख के चुनाव में भी देखने को मिल सकता है गौरतलब है कि खुटहन ब्लॉक से समाजवादी पार्टी का कोई भी सदस्य जिला पंचायत के लिए चुना नहीं गया है
जिला पंचायत में विफलताओं के बाद समाजवादी पार्टी की काफी किरकिरी हुई है । और क्षेत्रीय विधायक और उत्तर प्रदेश सरकार में पूर्व मंत्री शैलेंद्र यादव ललई की भी छवि दांव पर लग गई है।
समाजवादी पार्टी के कोर वोटरों ने उनकी भी भूमिका जांचनी शुरू कर दी है
तथा आम चर्चाओं में यह प्रश्न तैर रहा है कि समाजवादी गढ़ में जिला पंचायत सदस्यों के चुनाव की तरह ब्लाक प्रमुख के चुनाव में भी कहीं आपस की लड़ाई हार का कारण न बन जाए।
समाजवादी पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के प्रतिनिधि ने भले ही अपनी तरफ से जोर आजमाइश कर रहे हो लेकिन पार्टी पदाधिकारियों द्वारा कोई सहयोग किया जा रहा हो ऐसा भी नहीं दिख रहा है।
क्योंकि khutahan क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष का चुनाव जिले के सबसे चर्चित चुनाव में से एक है इसलिए आम जनमानस की भी निगाहें खुटहन पर टिकी हुई हैं तथा समाजवादियों के प्रदर्शन के प्रदर्शन के आधार पर आने वाले विधानसभा चुनावों में भी पार्टी की क्या स्थिति रहेगी उसका भी आकलन कर लेना चाहते हैं।
अगर समाजवादी पार्टी को खुटहन ब्लाक प्रमुख का चुनाव जीतती है तो तो उसे जौनपुर में शाहगंज बदलापुर malhni jaunpur sadar जैसी विधानसभा में मनोवैज्ञानिक बढ़त मिल जाएगी ।
मगर अगर हार होती है तो समाजवादी पार्टी के परंपरागत सीटे मल्हनी और शाहगंज विधानसभा की सीटों पर भी हार के खतरे के बादल मंडराने लगेंगें ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here