जौनपुर। कोविड – 19 के कारण करीब 11 माह तक बंद रहे प्राथमिक स्कूलों में आज पुनः रौनक लौट आयी , स्कूलों के ताले खुलते ही बच्चे पूरे उत्साह के साथ अपने अपने विद्यालय पहुंचे , उधर शिक्षकों ने अपने नन्हे मुन्नों के स्वागत करने के लिए पूरे स्कूल परिसर को दुल्हन की तरह सज़ा दिया था , सुरक्षा की दृष्टिकोण से सैनिटाइज किया गया ,  रंगोली बनाया गया , रंग विरंगे गुब्बारे चार चाँद लगा रहे थे , सभी बच्चे मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंडिंग में पठन पाठन शुरू किया । अपने विद्यालय के बदले स्वरूप देखकर बच्चे गदगद है , छात्र – छात्राओं ने बताया कि हमारा स्कूल अच्छा हो गया , आज हम लोगो को गुलाब का फूल दिया गया , चंदन लगाया गया और मास्क सैनिटाइजर दिया गया।   

शासन के निर्देश पर प्राथमिक विद्यालयों को खोला गया। 11 महीने बाद स्कूल आए बच्चों में काफी उत्साह दिखा। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा द्वारा राजकीय कन्या विद्यालय नगर क्षेत्र डायट परिसर तथा प्राथमिक विद्यालय आराजी, भगौतीपुर, धर्मापुर पहुंचकर बच्चों का उत्साह बढ़ाया गया तथा आज का दिन स्वागत एवं प्रेरणा ज्ञान उत्सव के रूप दिवस के रूप में मनाया गया। राजकीय कन्या विद्यालय नगर क्षेत्र में जिलाधिकारी ने फीता काटकर एवं मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर पढ़ाई प्रारंभ कराई। इस अवसर पर उन्होंने बच्चों से पूछा कि इतने दिनों बाद स्कूल आकर कैसा लग रहा है। बच्चों ने जिलाधिकारी को बताया कि स्कूल आ करके बहुत अच्छा लग रहा है तो जिलाधिकारी ने बच्चो से कहा कि पूरी ऊर्जा के साथ पढ़ाई करे और अपने लक्ष्य को पूरा करे। जिलाधिकारी ने कक्षा 05 के अभि यादव से सत्रह का पहाड़ा सुना। पहाड़ा सुनाने पर जिलाधिकारी ने अभि यादव को माला पहनाकर सम्मानित किया। जिलाधिकारी ने सभी बच्चों से कहा कि सभी बच्चे मेहनत से पढ़ाई करें। प्राथमिक विद्यालय आराजी, भगौतीपुर, धर्मापुर में शिक्षा चैपाल भी लगाई गई जिसमें बच्चों के साथ अभिभावक भी सम्मिलित हुए। जिलाधिकारी ने अभिभावकों से भी कहा कि वह भी बच्चों के साथ मेहनत करें, घर पर भी बच्चों की पढ़ाई का ध्यान देना अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि सौ दिन की रिमेडियल क्लास लगाई जाएगी, जिसमें एक वर्ष का कोर्स पूर्ण करने का प्रयास किया जाएगा तथा समय-समय पर विभिन्न प्रतियोगिताओं एवं परीक्षाओं का भी आयोजन किया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि बच्चों की पढ़ाई में अभिभावकों का बहुत बड़ा योगदान रहता है। उन्होंने बच्चों को कहा कि आप लोग भी रुचि लेकर पढ़ें। जिलाधिकारी ने कहा कि हम लोग पढ़ाई का पूरा माहौल दे रहे हैं और प्रयास कर रहे हैं कि सरकारी विद्यालय किसी कॉन्वेंट व प्राइवेट विद्यालय से कम न रहे। शासन से भी काफी सुविधाएं विद्यालयों में उपलब्ध कराई जा रही है। जिलाधिकारी ने शिक्षकों से अपील किया कि शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाए, बच्चों में उत्साह है बहुत दिनों बाद स्कूल आ रहे हैं तो हमारा कर्तव्य भी है बच्चों को अच्छी गुणवत्ता शिक्षा दी जाए। ———एबीएसए राजीव कुमार यादव बताया कि स्कूलों में कोविड 19 के नियमो का पालन कराया जा रहा है , सैनिटाइजर से हाथ धुलाया गया , मास्क लगाकर सोशल डिस्टनसिंग पढ़ाई शुरू किया ।