रिपोर्ट- इम्तियाज़ नदवी

जौनपुर- समाजवादी पार्टी के प्रदेश सचिव शहाबुद्दीन के संदिग्ध तौर पर गायब होने की खबर ने ज़िले एवं प्रदेश की सियासत में हलचल मचा दी है,जनपद के खुटहन थाना में शहाबुद्दीन के छोटे भाई शाह आलम ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराते हुवे अनहोनी की आशंका ज़ाहिर की है और शहाबुद्दीन को सकुशल वापस लाने की गुहार लगाई है।

दिये गये प्रार्थना पत्र में शाह आलम ने बताया कि 3 नवम्बर को शहाबुद्दीन अपनी फार्चूनर कार संख्या (UP 65 BF 2100) से ड्राइवर आदिल के साथ जनपद देवरिया थाना सलेमपूर के औरंगाबाद स्थित अपनी ससुराल गये थे जहाँ से दूसरे दिन कुछ निजी काम से देवरिया कचहरी गये और वकील से बात चीत के बाद देवरिया स्टेशन स्थित मस्जिद में जुमा की नमाज़ अदा करने के लिये निकले जिसके बाद से ही उनका मोबाइल फोन स्विच ऑफ़ हो गया।

शाह आलम मे बताया मोबाइल स्विच ऑफ़ होने के बाद शहाबुद्दीन को तलाश करने की हर कोशिश की गई रिश्तेदारो और करीबियों से पूछा गया लेकिन कहीं कुछ पता न चला,उन्होने कहा कि सपा प्रदेश सचिव राजनिती में काफी सक्रिय रहे हैं इसलिये दूसरी विचारधारा और पार्टियों के समर्थको से उनके मतभेद होते रहते है,ऐसे में उन्हें किसी भी तरह की अनहोनी की आशंका है,वहीं इस मामले में सपा के नेता के साले ने भी जनपद देवरिया की सदर कोतवाली में भी एक रिपोर्ट दर्ज कराई है।

गौर तलब रहे कि शहाबुद्दीन की गिनती राष्ट्रीय उलमा काउंसिल के दिग्गज नेताओं मे होती थी लेकिन 2022 विधानसभा चुनाव से ठीक पहले ही शहाबुद्दीन ने उलमा काउंसिल छोड़ सपा की साइकल पर सवार हो गये थे,जहाँ उन्हे प्रदेश सचिव की ज़िम्मेदारी दी गई थी,इस तरह अचानक गायब होने से जहाँ परिवार के लोग बेचैन हैं तो वहीं सियासी गलियारों में हडकंप मच गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here